Home चुनावी मुद्दा अचानक लॉकडाउन लागू करना गलत था, इसे तुरंत हटा देना भी उतना...

अचानक लॉकडाउन लागू करना गलत था, इसे तुरंत हटा देना भी उतना ही गलत होगा – उद्धव ठाकरे

419
0
Picture courtesy: Third-party.

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि अचानक लॉकडाउन लागू किया जाना गलत था और अब इसे तुरंत हटाया जा रहा है जो कि काफी गलत है।

महाराष्ट्र में कोविड-19 के मामले तेज़ी से बढ़ रही है जिसे लेकर ठाकरे ने कहा कि आने वाले बारिश के मौसम में लोगों को और भी अत्यधिक सतर्क होने की जरूरत है। उन्होंने प्रसिद्ध टीवी पर प्रसारित एक संदेश में कहा कि, ‘अचानक लॉकडाउन लागू किया जाना गलत था, लेकिन इसे तुरंत हटा देना भी उतना ही गलत होगा हमारे लोगों के लिये यह दोहरा झटका होगा।’

ठाकरे आगे कहते हैं कि, पिछले कुछ दिनों में हमने कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी देखी है जो आगे भी जारी रह सकता है। हमें अगर कोरोना महामारी से बचना है तो सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा और साथ में जो भी ज़रूरत के कदम है उठाना होगा चाहे वह कितने भी सख्त हो।

Picture courtesy: Third-party.

25 मार्च से जारी है लॉकडाउन

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी को फैलने से रोकने के लिये राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी इसका प्रथम चरण 25 मार्च से 14 अप्रैल था, जिसे 15 अप्रैल से बढ़ाते हुए तीन मई तक किया गया था इसका तीसरा चरण चार मई से 17 मई तक था और अब लॉकडाउन 4.0 कुछ छूट के साथ 18 मई से 31 मई तक है। सरकार के लॉकडाउन को बढाने के फैसले से सभी सहमत नहीं दिख रहे हैं। कई राज्य सरकार ने इस महमारी में ढील देकर अपने राज्य और देश में कोरोना के मरीजों को बढाने की तरफ पहला कदम उठा लिया है। सभी राज्य सरकार दावा तो कर रही है कि उनके यहाँ इस बिमारी से लडने के लिए सभी समाधान है लोकिन सरकार के सबसे बेहतर “G” मॉडल को देखकर हमें तोह बिलकुल नहीं लगा, जहाँ पर खराब वेंटिलेटर और मास्क के चलते लोग अपना जान गवां रहे हैं।

बैक्टीरियल संक्रमण क्या है?

इस बिमारी से लडने के लिए नहीं है पर्याप्त साधन

मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र सरकार को अभी तक माल एवं सेवा कर यानी जीएसटी की बकाया राशि नहीं मिली है। ट्रेन टिकट किराये (प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाने के लिये) का केंद्र का हिस्सा मिलना अभी तक बाकी है और कुछ दवाइयों की अब भी कमी है, और शुरूआत से हम पीपीई किट और अन्य उपकरणों की कमी का भी सामना कर रहे हैं।’’

14 दिन डबलिंग रेट

इससे पहले शनिवार को उद्धव ठाकरे ने बताया था कि मुंबई में कोविड -19 मरीजों की संख्या 14 दिनों की अवधि में दोगुनी हो रही है। ठाकरे ने बीएमसी द्वारा संचालित अस्पतालों के डॉक्टरों के साथ बातचीत करने के बाद शनिवार को यह जानकारी मीडिया से साझा किया था।

डॉक्टरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान ठाकरे ने महामारी को रोकने के लिए पिछले दो महीनों से किए जा रहे प्रयासों के लिए डॉक्टरों की प्रशंसा की और सफलता का विश्वास दिलाया।

ठाकरे के हवाले से बयान में कहा गया, ‘भले ही मुंबई में मरीजों की संख्या बढ़ रही है, लेकिन मरीजों की संख्या अब 14 दिनों के भीतर दोगुनी हो रही है।’

Story By Ritesh Kumar Singh

Facebook Comments