Home चुनावी मुद्दा शिवसेना ने अयोध्या में हुए कार्यक्रम पर कि टिप्पणी – भगवान राम...

शिवसेना ने अयोध्या में हुए कार्यक्रम पर कि टिप्पणी – भगवान राम के आशीर्वाद से खत्म हो जाएगा कोविड-19 संकट

495
0
Picture courtesy: Third-party.

नई दिल्ली: शिवसेना ने कहा कि भगवान राम के आशीर्वाद से कोविड-19 खत्म हो जाएगा। साथ ही अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन में अडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के शामिल ना होने पर भी टिप्पणी की। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के सम्पादकीय में कोरोनावायरस संकट के बीच 5 अगस्त को हुए अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन पर तंज कसा।

शिवसेना ने कहा, ‘देश के प्रधानमंत्री के मंदिर की नींव रखने से बड़ा स्वर्णिम पल कोई नहीं हो सकता। कोरोनावायरस फैल रहा है, लेकिन वह भगवान राम के आशीर्वाद से खत्म हो जाएगा।’ शिवसेना कहती है कि राम मंदिर निर्माण को लेकर एक लंबी लड़ाई लड़ने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेता अडवाणी और जोशी दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए इसमें हिस्सा लेंगे। वह कोविड-19 के मद्देनजर अयोध्या नहीं जा रहे। इस अभियान से जुड़ी रहीं उमा भारती भी अयोध्या नहीं जाएंगी। शिवसेना ने कहा कि देश भूमि पूजन कार्यक्रम को लेकर उत्साहित है।

Picture courtesy: Third-party.

आगे मुखपत्र मे लिखा है की, ‘कोरोनावायरस फैला है। अयोध्या, उत्तर प्रदेश और पूरे देश में यह फैला है। यह संकट भी भगवान राम के आशीर्वाद से खत्म हो जाएगा।’ उसने कहा कि अयोध्या में सुरक्षा की सारी जिम्मेदारी गृह मंत्रालय ने उठाई और अब केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह का वहां नहीं जा पाने से कार्यक्रम थोड़ा फीका तो पड़ेगा। शाह ने रविवार को ही कोरोना वायरस से अपने संक्रमित होने की जानकारी दे दी थी।

यह सवाल सबके जहन में है की आडवाणी जी और मुरली मनोहर जोशी की मदद सिर्फ चुनाव जीतने के लिए याद किया जाता है। सरकार एक नई पार्टी बनाना चाहती है लेकिन पुराने नेताओं को ऐसे भूलकर पार्टी को बनाने से क्या फायदा।

राम मंदिर के भूमि पूजन से दो दिन पहले से ही धार्मिक गतिविधियां शुरू

भाषण के दौरान योगी आदित्यनाथ के मुह पर मास्क नहीं था, क्या मास्क ना लगाने ऊपर उनपर फाइन वसूल जाएगा? अगर नहीं तो आम जनता से फाइन लेने का कोई मतलब नहीं बनता।

Facebook Comments